Neera Arya | नीरा आर्य | Neera Nagin Hindi Film

…तो ऐसे मिली आजादी, भाग—1 #NeeraNaginHindiFilm नाखून नोचे गए…स्तन काटे गए रो पड़ेंगे यह ​वीडियो देखकर The Woman whose Breast Were Cut | The Brave Story Of Neera Arya the real history of Neera Arya || #neeraarya|| The Real History Of India #Neera_Nagin_Basant_Kumar #नीरा_नागिन_बसंत_कुमार #NeeraArya #AzadHindFauj #FreedomFighter #neeraNagin | #Neera_Nagini #shortfilm #Subhashchandrabose #aajadhindfouj #aryasamaj #autobiographyneeraarya #26January​ #LalKila​ #fullmovie #hindifilm #PMModi​ #Vande_Mataram​ #Jai_Hind​ #Tiranga​ #JaiBharatMata​ #Mere_Desh_Ka_Kya_Kahna​ #A_Mere_Watan_Ke_Logon​ #maa #mata A Glimpse of Freedom – Story of #NeeraArya o many tortures were given and Nehru says freedom from the spinning wheel? Story of Neera Arya. My breasts were cut while in jail! The touching saga of freedom struggle. Must read once, the full biography of Neera Arya (1902 – 1998): Neera Arya was married to CID Inspector Shrikant Jairanjan Das in British India. Neera killed her officer husband Srikant Jairanjan Das in the British Army to save the life of Netaji Subhash Chandra Bose. Copyright Disclaimer under section 107 of the Copyright Act of 1976, allowance is made for “fair use” for purposes such as criticism, comment, news reporting, teaching, scholarship, education, and research. Fair use is a use permitted by copyright statute that might otherwise be infringing. ” Copyright Aryakhand Television Pvt. Ltd. नीरा नागिन के जीवन की सबसे मार्मिक घटना ………… ‘‘मैं जब कोलकाता जेल में थी, तो हमारे रहने का स्थान वे ही कोठरियाँ थीं, जिनमें अन्य महिला राजनैतिक अपराधी रही थी अथवा रहती थी। हमें रात के 10 बजे कोठरियों में बंद कर दिया गया और चटाई, कंबल आदि का नाम भी नहीं सुनाई पड़ा। मन में चिंता होती थी कि क्या इसी प्रकार की स्वतंत्राता गहरे समुद्र में अज्ञात द्वीप में मिलेगी कि अभी से ओढ़नी अथवा बिछाने का ध्यान छोड़ने की आवश्यकता आ पड़ी है? जैसे-तैसे जमीन पर ही लोट लगाई और नींद भी आ गई। लगभग 12 बजे एक पहरेदार दो कम्बल लेकर आया और बिना बोले-चाले ही ऊपर फेंककर चला गया। कंबलों का गिरना और नींद का टूटना भी एक साथ ही हुआ। बुरा तो लगा, परंतु कंबलों को पाकर संतोष भी आ ही गया। अब केवल वही एक लोहे के बंधन का कष्ट और रह-रहकर भारत माता से जुदा होने का ध्यान साथ में था। ‘‘सूर्य निकलते ही मुझको खिचड़ी मिली और लुहार भी आ गया। हाथ की सांकल काटते समय थोड़ा-सा चमड़ा भी काटा, परंतु पैरों में से आड़ी बेड़ी काटते समय, केवल दो-तीन बार हथौड़ी से पैरों की हड्डी को जाँचा कि कितनी पुष्ट है। मैंने एक बार दुःखी होकर कहा, ‘‘क्या अंधा है, जो पैर में मारता है?’’ ‘‘पैर क्या हम तो दिल में भी मार देंगे, क्या कर लोगी?’’ उसने मुझे कहा था। ‘‘बंधन में हूँ तुम्हारे कर भी क्या सकती हूँ…’’ फिर मैंने उनके ऊपर थूक दिया था, ‘‘औरतों की इज्जत करना सीखो?’’ जेलर भी साथ थे, तो उसने कड़क आवाज में कहा, ‘‘तुम्हें छोड़ दिया जाएगा, यदि तुम बता दोगी कि तुम्हारे नेताजी सुभाष कहाँ हैं?’’ ‘‘वे तो हवाई दुर्घटना में चल बसे।’’ मैंने जवाब दिया, ‘‘सारी दुनिया जानती है।’’ ‘‘नेताजी जिंदा हैं….झूठ बोलती हो तुम कि वे हवाई दुर्घटना में मर गए?’’ जेलर ने कहा। ‘‘हाँ नेताजी जिंदा हैं।’’ ‘‘तो कहाँ हैं…।’’ ‘‘मेरे दिल में जिंदा हैं वे।’’ जैसे ही मैंने कहा तो जेलर को गुस्सा आ गया था और बोले, ‘‘तो तुम्हारे दिल से हम नेताजी को निकाल देंगे।’’ और फिर उन्होंने मेरे आँचल पर ही हाथ डाल दिया और मेरी आँगी को फाड़ते हुए फिर लुहार की ओर संकेत किया…लुहार ने एक बड़ा सा जंबूड़ औजार जैसा फुलवारी में इधर-उधर बढ़ी हुई पत्तियाँ काटने के काम आता है, उस ब्रेस्ट रिपर को उठा लिया और मेरे दाएँ उरोज को उसमें दबाकर काटने चला था…लेकिन उसमें धार नहीं थी, ठूँठा था और उरोजों को दबाकर असहनीय पीड़ा देते हुए दूसरी तरफ से जेलर ने मेरी गर्दन पकड़ते हुए कहा था, ‘‘अगर फिर जबान लड़ाई तो तुम्हारे ये दोनों गुब्बारे छाती से अलग कर दिए जाएँगे…’’ उसने फिर चिमटानुमा हथियार मेरी नाक पर मारते हुए कहा, ‘‘शुक्र मानो महारानी विक्टोरिया का कि इसे आग से नहीं तपाया, आग से तपाया होता तो तुम्हारे दोनों उभार पूरी तरह उखड़ जाते।’’ —नीरा आर्य, आजाद हिन्द की पहली जासूस लेखिका : मधु धामा का एक अंश का नाट्य रूपांतरण नाट्य निर्देशन : चांद खान पुस्तक लिंक हिन्दी पुस्तक https://www.amazon.in/Neera-Arya-Pahl… अंग्रेजी पुस्तक लिंक https://www.amazon.in/Neera-Arya-Firs… गूगल बुक्स लिंक https://www.google.co.in/books/editio…

Related Posts